सुरेश वाडकर

Search results

Thursday, November 6, 2014

कालाधन : 627 में से 289 खातों में जीरो बैलेंस, एसआईटी की रिपोर्ट में खुलासा

Bhaskar news | Nov 07, 2014, 10:34AM IST
More:
नरेंद्र मोदी
कालाधन : 627 में से 289 खातों में जीरो बैलेंस, एसआईटी की रिपोर्ट में खुलासा
नई दिल्ली. कालेधन से जुड़े मामलों की जांच में नया तथ्य सामने आया है। इसके मुताबिक, भारत को मिली एचएसबीसी बैंक की सूची में से 289 खातों में एक भी पैसा नहीं है। इन मामलों की जांच कर रही एसआईटी ने यह भी पाया है कि सूची में करीब 122 नाम दो बार लिखे गए हैं।  
 
आधिकारिक सूत्रों की मानें तो आयकर विभाग अब 300 खाताधारकों पर मुकदमा चलाने का विचार कर रहा है। एसआईटी ने इस सूची के बारे में अपनी शुरुआती जांच की रिपोर्ट अगस्त में सुप्रीम कोर्ट को सौंपी थी। अगली रिपोर्ट दिसंबर तक कोर्ट को सौंपी जा सकती है। भारत  को 627 नामों की सूची मिली है। सूत्रों ने बताया, ‘एसआईटी को मालूम पड़ा है कि  इस सूची में इसका कोई ब्यौरा नहीं है कि ये खाते कब खोले गए और इनमें कब-कब, कितना-कितना लेन-देन हुआ। ऐसे में इन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने में यह सबसे बड़ी बाधा है।’ 
 
अब तक कहां पहुंची जांच
 
इसी साल  मई में गठित एसआईटी के अध्यक्ष जस्टिस एमबी शाह और उपाध्यक्ष जस्टिस अरिजित  पसायत हैं। दोनों सुप्रीम कोर्ट के रिटायर जज हैं। मई के बाद एसआईटी की देखरेख में आयकर विभाग ने करीब 150 सर्वे किए हैं। ये सर्वे उन लोगों के खिलाफ हुए हैं जिनके नाम एचएसबीसी की सूची में हैं। लेकिन इनके खिलाफ मुकदमा  शुरू नहीं किया जा सका है।
 
सरकार को भी था अंदेशा 
 
भारतीयों के कई संदिग्ध विदेशी खातों में पैसा नहीं होने या काली कमाई निकाले जाने का अंदेशा सरकार को भी हो चुका है। पिछले रविवार ‘मन की बात’ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था, ‘मुझे नहीं पता विदेश में कितना कालाधन है’। जबकि चुनाव प्रचार के दौरान मोदी ने ही दावा किया था कि कालाधन आया तो हर गरीब की जेब में मुफ्त में 15-20 लाख रुपए होंगे। 

1 मुकदमा शुरू होगा : सुप्रीम कोर्ट ने पिछली सुनवाई में एसआईटी से कहा था कि वह 31 मार्च 2015 तक इन मामलों की जांच पूरी करे। आयकर विभाग 300 खाताधारकों के खिलाफ मुकदमे शुरू करने की तैयारी में है। 
  
2 संधियों पर दोबारा बात : एसआईटी चाहती है कि भारत ने जिन 78 देशों के साथ टैक्स संधियां की हैं, उनसे दोबारा बात की जाए। ताकि ज्यादा नाम सामने आ सकें। मोदी सरकार ने एसआईटी से कहा है कि वित्त मंत्रालय 78 में से 75 देशों के साथ बातचीत शुरू भी कर चुका है।
3चार दिसंबर तक अगली रिपोर्ट : एसआईटी ने कहा है कि वह अपनी दूसरी जांच रिपोर्ट चार दिसंबर तक सुप्रीम कोर्ट में पेश कर देगी। इसमें अगस्त के बाद हुई जांच का विवरण होगा।
4100 खाताधारकों पर लगेंगी हल्की धाराएं : कालाधन मामलों की जांच में सीबीडीटी ने नया तरीका निकाला था। कुछ खाताधारकों से कहा गया था कि वे खुद ही विदेशी बैंकों से संपर्क कर अपने खातों का ब्योरा हासिल करें। और उसे सरकार को सौंपें। ऐसे 100 खाताधारकों पर हल्की धाराओं के तहत मुकदमा चलाया जाएगा।  

5 ईडी बनेगी नोडल एजेंसी : प्रवर्तन निदेशालय में नए अधिकारियों की नियुक्ति होगी। ईडी को ही एसआईटी की निगरानी वाले मामलों की जांच के लिए नोडल एजेंसी बनाया जाएगा।
6नामों का खुलासा भी हो सकता है : जिन लोगों के खिलाफ मुकदमे चलाए जाएंगे उनके नाम सार्वजनिक किए जा सकते हैं। एसआईटी प्रमुख जस्टिस शाह ने खुद यह बात कही थी।